जमशेदपुर7 घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

जेसीबी के सामने झंडा लेकर जमीन पर पड़े कांग्रेस कार्यकर्ता।

  • नेटगिरी ने काम नहीं किया, जेसीबी के सामने झंडा लेकर लेट गए, मंत्री से बात करने की कोशिश की लेकिन अधिकारी नहीं माने

कागलनगर में बुधवार को प्रशासन ने मंत्री बन्ना गुप्ता के समर्थक आलोक तिवारी की नई दुकान तोड़ दी. इस दौरान प्रशासन को करीब एक घंटे तक कांग्रेसियों के विरोध का सामना करना पड़ा। कांग्रेस के सोनारी प्रखंड अध्यक्ष बंटी शर्मा पार्टी के झंडे को लेकर काफी हंगामा कर रहे थे. कभी अधिकारियों से बहस करते तो कभी जेसीबी के सामने लेट जाते। पुलिस ने लाठीचार्ज कर कांग्रेसियों को हटाया। इसके बाद दुकान तोड़ दी। कागलनगर में आलोक तिवारी ने 180 स्क्वायर फीट टाटा लीज पर अतिक्रमण कर दुकान बना ली थी।

एक ब्रेक छोड़ दिया

कागलनगर पार्क के पास 12 दुकानें हैं। यहां कई होटल और पान की दुकानें हैं। इनमें से केवल दो दुकानें आवंटित की गई हैं। ज्यादातर दुकानें अवैध रूप से बनी हैं। आरोप है कि इन अवैध दुकानों के मालिक को झामुमो नेताओं का समर्थन प्राप्त है.

समर्थक मंत्री से सीओ से बात कराने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन सीओ ने कहा- डीसी से बात कराओ
मंत्री बन्ना गुप्ता से बात करने के लिए कांग्रेस कार्यकर्ता सीओ अमित को मजिस्ट्रेट पद पर तैनात कराने की कोशिश कर रहे थे, लेकिन सीओ ने कहा- डीसी सूरज कुमार के आदेश पर प्रशासन की टीम अतिक्रमण हटाने आई है. मंत्री डीसी से बात करें। इस दौरान कई बार कांग्रेसियों और सीओ के बीच बहस भी हो गई।

टाटा स्टील की शिकायत पर जमशेदपुर सीओ कोर्ट में BPLEism दायर
आलोक तिवारी द्वारा किए गए अतिक्रमण को हटाने के लिए टाटा स्टील भूमि विभाग की शिकायत पर जमशेदपुर सीओ कोर्ट में बीपीएलई मुकदमा दायर किया गया था। कोर्ट ने 5 बार नोटिस जारी किया। आलोक तिवारी ने कोई पहल नहीं की तो एसडीओ संदीप कुमार मीणा ने जमशेदपुर सीओ अमित कुमार श्रीवास्तव व सीआई हिम्मत लाल महतो को मजिस्ट्रेट पदस्थ कर अतिक्रमण हटाने का आदेश दिया. बुधवार को जब टाटा स्टील भूमि विभाग के प्रबंधक सुनील कुमार सिंह के साथ प्रशासन की टीम वहां पहुंची तो बन्ना गुप्ता के कार्यकर्ताओं ने विरोध करना शुरू कर दिया.

कांग्रेस-झामुमो कार्यकर्ताओं के बीच भी बहस
इस दौरान कांग्रेस और झामुमो के कार्यकर्ताओं के बीच बहस भी हुई। जहां से अतिक्रमण हटाया गया है, उसके बगल में टाटा की लीज पर दी गई जमीन पर भी झामुमो कार्यालय अवैध रूप से बना हुआ है। इस पर टाटा स्टील भूमि विभाग ने बीपीएलई मुकदमा दायर किया है, लेकिन अब तक कोई कार्रवाई नहीं की गई है।

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here