ग्रामीण क्षेत्रों के बच्चे जिनके पास अध्ययन करने के लिए संसाधन उपलब्ध नहीं हैं, ऐसे बच्चों को अपने गाँव में शिक्षकों को पढ़ाना चाहिए …।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here