धनबाद के कलेक्ट्रेट में बैठक कर रहे स्वास्थ्य मंत्री से परीक्षा परिणाम की बात करने आई छात्राओं पर लाठीचार्ज के मामले पर पहली बार शिक्षा मंत्री जगरनाथ महतो का बयान आया है. महतो ने सोमवार को कहा कि पुनर्मूल्यांकन की प्रक्रिया चल रही है। अगर कोई फेल छात्र परीक्षा पास करना चाहता है तो उसे शिकायत प्रकोष्ठ में आवेदन करना चाहिए। महतो ने कहा कि जहां तक ​​लाठीचार्ज की बात है तो धनबाद के डीसी ने जांच टीम गठित कर दी है. रिपोर्ट मिलने पर कार्रवाई की जाएगी।

गौरतलब है कि जैक की ओर से जारी रिजल्ट के विरोध में छात्राएं 6 जुलाई को स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता से मिलने पहुंची थीं. वहां एसडीओ ने उनका रास्ता रोक लिया। इस दौरान छात्राओं पर लाठीचार्ज किया गया। एसडीओ के साथ कई आरक्षकों ने छात्राओं पर लाठियां बरसाईं. एसी धनबाद श्याम नारायण राम के मुताबिक डीसी के आदेश पर दो सदस्यीय जांच टीम का गठन किया गया है. छात्रों से पूछताछ की गई है। जल्द ही उपायुक्त को रिपोर्ट सौंपेंगे।

राष्ट्रीय बाल अधिकार संरक्षण आयोग ने मामले का संज्ञान लेते हुए तीन दिन के भीतर डीसी से रिपोर्ट मांगी थी. रविवार दोपहर एसी व सिटी एसपी ने पीड़ित छात्राओं को महिला थाने बुलाया और उनसे बारी-बारी से पूछताछ की. उपायुक्त संदीप सिंह के आदेश पर अपर कलेक्टर श्याम नारायण राम और सिटी एसपी आर रामकुमार ने मामले की जांच की. दोनों अधिकारियों ने घटना के सिलसिले में धनबाद महिला थाने में प्रदर्शन कर रही 10-12 छात्राओं के अलावा अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के दो नेताओं से पूछताछ की.

जांच दल ने लाठीचार्ज में घायल छात्राओं का बयान लेने वाली महिला पुलिस अधिकारी से भी पूछताछ की और अस्पताल में भर्ती कराया. जांच में घायल छात्राओं के बयान भी शामिल किए गए। छात्राओं के बयान, मौके की सीसीटीवी फुटेज, मोबाइल रिकार्डिंग व मौके पर तैनात पुलिस व प्रशासन के लोगों के बयान के आधार पर जांच टीम इस मामले में डीसी को विस्तृत रिपोर्ट सौंपने की तैयारी कर रही है. सोमवार।

आयोग ने इन बिंदुओं पर मांगी रिपोर्ट

– मामले की विस्तृत जांच रिपोर्ट
-मामले में सभी नाबालिगों के अलग-अलग बयान
– घटना से जुड़े अन्य दस्तावेज या सबूत, जैसे वीडियो, सीसीटीवी फुटेज

पुलिस अधिकारियों व जवानों से भी पूछताछ

जांच दल ने प्रदर्शन के दौरान सुरक्षा में लगे जवानों से भी पूछताछ की. लाठीचार्ज व लाठीचार्ज के बाद उत्पन्न स्थिति पर महिला थाना प्रभारी विशाखा पांडेय, एएसआई आरके पांडेय, धनबाद थाने के राजन कुमार व अन्य से पूछताछ की गयी. आरोप है कि घटना के बाद धनबाद थाने में हिरासत में लाई गई छात्राओं ने एक आरक्षक को काट लिया था. टीम ने उस जवान का बयान भी लिया।

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here