जमशेदपुर17 मिनट पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

सदर अस्पताल में सुविधाओं का जायजा लेती एनक्वाश टीम।

जमशेदपुर के सदर अस्पताल का जल्द कायाकल्प होगा. अस्पताल में बेड की संख्या 100 से बढ़ाकर 200 की जाएगी। इसके लिए अस्पताल के कई हिस्सों को दो मंजिला बनाया जाएगा। इसके लिए जिला प्रशासन की ओर से राशि आवंटित कर दी गई है। एक महीने में काम शुरू हो जाएगा।

यह जानकारी जिला सिविल सर्जन डॉ एके लाल ने मंगलवार को कायाकल्प योजना के तहत अस्पतालों का जायजा लेने पहुंची राष्ट्रीय गुणवत्ता आश्वासन मानक (ENQUAS) टीम को दी. इस दौरान सीएस ने कहा कि अस्पताल में ओपीडी और इमरजेंसी के लिए अलग से भवन बनाया जाएगा. इससे मरीजों के इलाज में काफी सुविधा होगी। इसके अलावा 12 शवों को रखने के लिए मार्चरी, पैथोलॉजी लैब, टीकाकरण केंद्र बनाने की भी योजना है।

टीम ने पाया कि वार्ड में मरीजों की संख्या क्षमता से अधिक है

मरीजों को बेहतर स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया कराने के लिए देशभर के सरकारी अस्पतालों का आकलन किया जा रहा है. इसके तहत जमशेदपुर आई नेशनल क्वालिटी एश्योरेंस स्टैंडर्ड (एनक्यूएएस) की दो सदस्यीय टीम मंगलवार को निरीक्षण कर लौटी। टीम में दिल्ली की डॉ. निवेदिता और रांची की डॉ. रंजीत मंडल शामिल थीं।

टीम ने सिविल सर्जन डॉ. एके लाल, एसीएमओ डॉ. साहिर पाल, सदर अस्पताल के उपाधीक्षक डॉ. एबीके बाखला के साथ बैठक कर अस्पताल में उपलब्ध सुविधाओं की जानकारी ली. टीम ने पूरे अस्पताल का निरीक्षण किया। टीम ने पाया कि मरीजों की संख्या के हिसाब से बेड नहीं हैं। वार्ड में मरीजों की संख्या ज्यादा है। ऐसे में बेड बढ़ाना होगा। इस पर सीएस ने अस्पताल के उन्नयन की पूरी योजना से अवगत कराया।

टीम ने डॉक्टरों की कमी पर भी उठाए सवाल
टीम ने अस्पताल की साफ-सफाई का जायजा लिया. टीम ने ओपीडी, इमरजेंसी, डिस्पेंसरी, वार्ड, लैब, एक्स-रे रूम, अल्ट्रासाउंड, ब्लड बैंक का भी दौरा किया। टीम ने अस्पताल में डॉक्टरों की कमी पर सवाल उठाए। यह टीम रिपोर्ट तैयार कर उच्चाधिकारियों को सौंपेगी। उसके आधार पर सदर अस्पताल को अंक मिलेंगे। यदि ये अंक 70 प्रतिशत या इससे अधिक हैं तो केंद्र से एनक्वाश की टीम सदर अस्पताल का निरीक्षण करेगी और फिर अस्पताल को प्रमाण पत्र दिया जाएगा.

और भी खबरें हैं…

,

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here