धनबादग्यारह घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

सुजीत सिन्हा। फाइल फोटो

  • यूपी से गिरफ्तार अपराधी कबूला- जेल से शूटरों को ऑपरेट करता था सुजीत

धनबाद जेल के हाई सिक्योरिटी सेल में इकलौते कैदी के रूप में कैद गैंगस्टर सुजीत सिन्हा ने अपने गिरोह का विस्तार यूपी तक किया। पलामू के हैदरनगर में अशोका बिल्डकॉन कंपनी के कैंप पर फायरिंग में रांची की अरगोड़ा पुलिस ने अमित चौधरी को गिरफ्तार किया और पलामू पुलिस ने यूपी के बांदा से अभिषेक पांडे नाम के दो अपराधियों को गिरफ्तार किया.

दोनों ने पूछताछ में खुलासा किया कि उन्होंने धनबाद जेल में बंद सुजीत सिन्हा के कहने पर ही निशानेबाजों को काम पर रखा था। फिर बमबारी-फायरिंग हुई। झारखंड के गृह विभाग ने भी दोनों के कबूलनामे पर कान खड़े कर दिए. गृह विभाग के निर्देश पर जेल आईजी ने धनबाद जेल प्रशासन को पत्र भेज सुजीत को गुमला जेल स्थानांतरित करने का आदेश दिया. आईजी के पत्र के बाद सुजीत को गुमला जेल शिफ्ट किया गया है. सुजीत को इसी साल तीन जून को गागीडीह से धनबाद जेल लाया गया था।

भास्कर एक्सक्लूसिव: गैंगस्टर सुजीत एक वर्चुअल नंबर के साथ धनबाद जेल से गिरोह का विस्तार कर रहा था
पलामू पुलिस से पूछताछ के दौरान अभिषेक पांडे ने बताया कि वह सुजीत के कहने पर शूटरों को बाहर ही व्यवस्थित करता है. सुजीत ही उसे जेल से शूटरों को ऑपरेट करने की हिदायत देता था। सुजीत वर्चुअल प्राइवेट नेटवर्क (वीपीएन) के जरिए उसके और गिरोह के अन्य सदस्यों से जुड़ा रहता है। वीपीएन वह माध्यम है जिसके माध्यम से इंटरनेट के माध्यम से कॉलिंग होती है। इस नंबर की लोकेशन ट्रेस करना मुश्किल है। बातचीत को रिकॉर्ड भी नहीं किया जा सकता है।

सुजीत गैंग को सिम कार्ड देने वाले दो गुर्गों ने भी उड़ाई फलियां
रांची की होतवार जेल में बंद हरि तिवारी भी सुजीत के निर्देश पर वर्चुअल नंबरों के जरिए मुकदमों का निष्पादन करवाते हैं. हरि को सिम कार्ड भेजने के आरोप में रांची के तेतरटोली निवासी सनी मुंडा और मोरहाबादी एदलहातू के राजेश झा को गिरफ्तार किया गया है. दोनों ने सुजीत गैंग को सिम कार्ड भेजने की बात भी कबूल की।

धनबाद जेल में कई बड़े चेहरे बंद
गैंगस्टर अमन सिंह समेत कई अपराधियों को धनबाद जेल से दूसरी जेलों में ट्रांसफर किया जा चुका है. इस समय पूर्व विधायक संजीव सिंह, पिंटू सिंह, अभिनव प्रताप सिंह, रिंकू सिंह, भाजपा नेता सतीश सिंह हत्याकांड के आरोपी विकास सिंह व सतीश साव उर्फ ​​गांधी व अमन गिरोह के गुर्गे भी धनबाद जेल में बंद हैं.

जेल आईजी ने पत्र भेजकर कैदी सुजीत सिन्हा को गुमला जेल स्थानांतरित करने का आदेश दिया था। सुजीत को गुमला जेल स्थानांतरित कर दिया गया। प्रशासनिक कारणों से किसी कैदी का जेल स्थानांतरण संभव है। अजय कुमार, अधीक्षक, धनबाद संभागीय जेल

और भी खबरें हैं…

,

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here