रांचीएक घंटा पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

अनुमंडलीय अस्पताल फुसरो परिसर में जलजमाव से मरीज व उसके आश्रित परेशान हो गए हैं. कई वार्डों में पानी घुसना शुरू हो गया है।

झारखंड के कई जिलों में बुधवार से भारी बारिश हो रही है. लगातार बारिश से राज्य के विभिन्न जिलों में जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है. नदियां उफान पर हैं। सैकड़ों एकड़ में फसल बर्बाद हो रही है और कई इलाकों में नदी का पानी घुस गया है. लोग अपने घरों को छोड़कर सुरक्षित जगह की तलाश में भाग रहे हैं।

वहीं, सड़कों पर नदी का पानी ओवरफ्लो होने से कई इलाकों में यातायात बाधित हो गया है. मौसम विभाग के मुताबिक अगले तीन दिनों तक राज्य में बारिश की चेतावनी जारी की गई है. बंगाल के सीमावर्ती जिलों में कल तक भारी बारिश का अलर्ट जारी किया गया है।

लगातार हो रही बारिश के कारण जामताड़ा में बिक्रमपुर हिंगलो नदी का जलस्तर इतना अधिक हो गया है कि पानी गांव में घुस गया है.  गांव के लोग सुरक्षित स्थान की ओर बढ़ रहे हैं।

लगातार हो रही बारिश के कारण जामताड़ा में बिक्रमपुर हिंगलो नदी का जलस्तर इतना अधिक हो गया है कि पानी गांव में घुस गया है. गांव के लोग सुरक्षित स्थान की ओर बढ़ रहे हैं।

जामताड़ा के बागदेही में घरों में घुसा नदी का पानी
जामताड़ा के बागदेही में लगातार हो रही बारिश से बिक्रमपुर हिंगलो नदी का जलस्तर खतरे के निशान से ऊपर पहुंच गया है. इसका पानी लोगों के घरों में घुसना शुरू हो गया है। इसका जलस्तर लगातार बढ़ रहा है, जिससे ग्रामीण अपने घरों में कैद हो गए हैं। लोगों का आना-जाना बंद हो गया। किसानों के खेत पानी में डूब जाने से धान बर्बाद हो गया। ग्रामीणों ने बताया कि करीब 20 साल बाद इस इलाके में बाढ़ आई है.

बोकारो के फुसरो के बाटा गली, रहीम गंज, रानी बाग समेत कई निचले इलाकों में पानी भर गया है.  कहीं 4 फीट तो कहीं 5 फीट पर पानी है।  ऐसे में लोग अपने घर का सामान छोड़कर जान बचाने के लिए ऊंचे इलाकों में चले गए।

बोकारो के फुसरो के बाटा गली, रहीम गंज, रानी बाग समेत कई निचले इलाकों में पानी भर गया है. कहीं 4 फीट तो कहीं 5 फीट पर पानी है। ऐसे में लोग अपने घर का सामान छोड़कर जान बचाने के लिए ऊंचे इलाकों में चले गए।

बेरमो-कोयलांचल में बुधवार रात से लगातार हो रही बारिश से बेरमो-कोयलांचल के विभिन्न इलाकों में पानी उपमंडल अस्पताल में घुस गया, जिससे सामान्य जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया. इधर फुसरो की बाटा गली, रहीम गंज, रानी बाग समेत कई निचले इलाकों में पानी भर गया है. वहीं अनुमंडलीय अस्पताल फुसरो परिसर में जलजमाव से मरीज व उसके आश्रित परेशान हो गए हैं.

जामताड़ा की पाबिया पंचायत के सिकदरडीह गांव के बद्री राय का मकान भारी बारिश से ढह गया है.

जामताड़ा की पाबिया पंचायत के सिकदरडीह गांव के बद्री राय का मकान भारी बारिश से ढह गया है.

बाटा गली में स्थानीय लोगों ने बताया कि रात 12 बजे से ही घरों में पानी घुस गया, जो धीरे-धीरे बढ़कर 4-5 फीट हो गया. ऐसे में लोग अपने घर का सामान छोड़कर जान बचाने के लिए ऊंचे इलाकों में चले गए।

बेरमो में लगातार बारिश के कारण करिपानी और कल्याणी क्षेत्र को जोड़ने वाली पुलिया बह गई।  जिससे करी पानी मंदिर कॉलोनी और कल्याणी के सैकड़ों लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

बेरमो में लगातार बारिश के कारण करिपानी और कल्याणी क्षेत्र को जोड़ने वाली पुलिया बह गई। जिससे करी पानी मंदिर कॉलोनी और कल्याणी के सैकड़ों लोगों को खासी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है.

सोनुआ-गोइलकेरा मुख्य मार्ग पर ओवरफ्लो होने से सोनुआ-गोइलकेरा मुख्य मार्ग पर नदी का पानी ओवरफ्लो होकर पुलिया के ऊपर बहने लगा. इससे मुख्य मार्ग पर वाहनों की आवाजाही ठप हो गई है। यहां मुख्य सड़क पर दोनों तरफ वाहन रुके हुए हैं और नदी का पानी घटने का इंतजार कर रहे हैं.

गोमो में यमुना नदी अपने चरम पर है।  इसका पानी ओवरफ्लो होकर सड़कों पर आ गया है।  इसके चलते यातायात बाधित हो गया है।

गोमो में यमुना नदी अपने चरम पर है। इसका पानी ओवरफ्लो होकर सड़कों पर आ गया है। इसके चलते यातायात बाधित हो गया है।

हालांकि इलाके में सुबह 10 बजे से बारिश थम गई है, लेकिन अगले कुछ घंटों में नदी का पानी कम होने से मुख्य सड़क पर यातायात शुरू होने की उम्मीद है.

(इनपुट- सुभाष, बिष्णु, रूपेश, निजाम)

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here