चक्रधरपूर : पश्चिमी सिंहभूम जिला में कोरोना वायरस के संक्रमण से उत्पन्न इस वैश्विक महामारी के खिलाफ जारी जंग में जिला उपायुक्त अरवा राजकमल के नेतृत्व में उप विकास आयुक्त आदित्य रंजन की देखरेख में पश्चिमी सिंहभूम जिले के कोविड-19 समर्पित दक्षिण पूर्व मंडल रेलवे अस्पताल, चक्रधरपुर में किसी भी स्थिति से निपटने हेतु लगभग सभी तैयारियां पूर्ण कर ली गई हैं। हर विषम परिस्थिति से निपटने हेतु रेलवे मंडल कार्यालय एवं चिकित्सा पदाधिकारियों के द्वारा आपसी समन्वय एवं सहयोग के साथ जिला प्रशासन के सहयोग से अस्पताल को अपग्रेड करने का कार्य किया जा रहा है। अस्पताल में चिकित्सा कर्मियों के साथ-साथ अन्य व्यक्तियों को संक्रमण से बचने हेतु हर आवश्यक व्यवस्थाएं सुनिश्चित की जा रही हैं।

आवश्यक सुविधाओं के साथ परिसर की विशेष निगरानी हेतु केंद्रीकृत निगरानी की व्यवस्था
इस संबंध में कोविड-19 समर्पित अस्पताल के वरीय नोडल पदाधिकारी -सह- डीडीसी के द्वारा जानकारी दी गई कि रेलवे प्रशासन के सहयोग से अस्पताल के आईसीयू वार्ड को अपग्रेड करते हुए केंद्रीकृत चिकित्सा गैस पाइपलाइन प्रणाली के साथ-साथ वैक्यूम और मेडिकल एयर, नेब्युलाइजर, एयर प्यूरीफायर, जीवन समर्थक चिकित्सा के साथ क्रैश कार्ट की व्यवस्था के साथ 09 बेड तैयार किए गए हैं। एक परिवहन वेंटीलेटर और आईसीयू वेंटीलेटर की व्यवस्था भी अस्पताल परिसर में सुनिश्चित की गई है। उन्होंने बताया कि इसके साथ ही आईसीयू वार्ड में फ्यूमिगेशन और फॉगिंग मशीन की उपलब्धता सुनिश्चित करते हुए अस्पताल परिसर में विशेष निगरानी हेतु केंद्रीय निगरानी प्रणाली तथा मल्टीपारा ऑक्सीजन निगरानी की व्यवस्था भी की गई है।

संक्रमण से बचाव के लिए किए गए हैं कई उपाय
उप विकास आयुक्त के द्वारा जानकारी दी गई कि कोविड-19 अस्पताल में चिकित्सक, चिकित्सा कर्मियों और रोगियों में संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए कई उपाय किए गए हैं-
▪अस्पताल परिसर में चिकित्सकों को मरीजों के इलाज के दौरान संक्रमण से बचाव हेतु आने वाले संदिग्ध मरीजों को वर्गीकृत करने के लिए एक अलग कक्ष की व्यवस्था की गई है।

▪चिकित्सकों को निगरानी के लिए वार्ड में जाने से पूर्व पीपीई किट धारण करने एवं उसे उतारने की भी अलग-अलग कमरे में व्यवस्था सुनिश्चित की गई है।

▪इलाजरत रोगियों की सुविधा तथा संक्रमण से बचाव के साथ खाना, दवाई, पीने का पानी उपलब्ध करवाने के लिए रिमोट संचालित “को-बोट” मशीन अस्पताल में उपलब्ध कराई गई है।

▪30 हाईटेक आई-बेड की व्यवस्था जिला प्रशासन के द्वारा की गयी है, जिससे एक रोगी से दूसरे रोगी तक संक्रमण को रोका जा सके।

अस्पताल परिसर में जिला प्रशासन के कार्य
उप विकास आयुक्त के द्वारा जानकारी दी गई कि जिला प्रशासन के द्वारा कोविड-19 समर्पित चक्रधरपुर रेलवे अस्पताल में वायरस के लक्षण से पीड़ित व्यक्तियों का नमूना संग्रह के लिए स्पेशल फोन बूथ सैम्पल कलेक्शन सेंटर, टच फ्री हैंड वाशिंग एवं सैनिटाइजर यूनिट, परिसर में आने जाने वाले सभी कर्मियों को सैनेटाईज करने हेतु स्थाई सैनिटाइजर कक्ष, बाहरी कर्मचारियों के लिए रहने एवं खाने की व्यवस्था के साथ-साथ कर्मचारियों को लाने एवं ले जाने हेतु आवश्यक वाहन की व्यवस्था भी सुनिश्चित की गई है।