गंदा नाला5 घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

अबाबक का काली मंदिर।

  • धनतेरस को लेकर सजने लगे बाजार, कलश यात्रा की तैयारियां शुरू

धनतेरस, काली पूजा, दीपावली, गोवर्धन पूजा और भैया दूज के साथ क्षेत्र में भक्ति और उत्साह का माहौल बनने लगा है। नाला बाजार, गोपालपुर, मुकुंदी, नीपारा, चलेपारा, सियारकेतिया, दलवाड़, देवजोद मंझलाडीह, मोहनवॉक, अंबाबैंक, जलई, गुलुदुमरिया आदि क्षेत्रों में दीपोत्सव की तैयारियां अंतिम चरण में हैं.

एक तरफ जहां काली पूजा, दिवाली को लेकर मंदिरों और घरों की सफाई, रंगाई, पेंटिंग का काम अंतिम चरण में है, वहीं दूसरी तरफ बाजार की दुकान को धनतेरस से सजाया जा रहा है. इस बार बांग्ला पंचांग के अनुसार धनतेरस मंगलवार, 4 नवंबर, गुरुवार को, काली पूजा और दीपावली और लक्ष्मी पूजा, 5 नवंबर, शुक्रवार को गोवर्धन पूजा और 6 नवंबर, शनिवार को भैया दूज मनाई जाएगी.

नाला क्षेत्र के डुमरिया पंचायत के अंबाबंक गांव में पर्व को लेकर श्रद्धा और उत्साह का माहौल है. यहां का प्राचीन मंदिर आसपास के क्षेत्र के भक्तों के लिए आकर्षण का केंद्र है। यहां विराजमान मां काली की पूजा भक्ति भाव से की जाती है। मंदिर में मूर्तियों और कलश की स्थापना की जाती है और भक्ति के साथ पूजा की जाती है।

मंदिर की स्थापना लगभग 451 सौ वर्ष पूर्व हुई थी, जिसकी आज भी पूजा-अर्चना की जाती है। मंदिर की स्थापना के संबंध में बलदेव सिंह, हरधन सिंह, श्रीनिवास सिंह, कन्हाई लाल सिंह, बमपद सिंह, परिमल सिंह, शक्तिपद सिंह, अंबिका यादव आदि का कहना है कि यह मंदिर बहुत प्राचीन और क्षेत्र का प्रसिद्ध मंदिर है। आचार्य सुबोध पांडे और पुरोहित रवींद्रनाथ झा द्वारा घाट पर पूजा कर कलश यात्रा का आयोजन किया जाएगा.

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here