बरही13 घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

दीपावली की पूर्व संध्या पर भामाशाह सरस्वती शिशु विद्या मंदिर, बरही में तोरण बनाने और रंगोली प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। जिसमें शिशु वर्ग, बाल वर्ग एवं किशोर वर्ग के भाई-बहनों ने भाग लिया। प्रतियोगिता में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले भाई-बहनों को भी पुरस्कृत किया गया। किशोर वर्ग की रंगोली प्रतियोगिता में खुशबू व खुशी (10बी), शीतल व प्रिया (8बी) को दूसरा तथा सुप्रिया व नंदनी (9बी) को तीसरा स्थान दिया गया। बच्चों की रंगोली बनाने की प्रतियोगिता में सोनाली व रोशनी (6बी) ने प्रथम स्थान प्राप्त किया। दूसरा स्थान बुलबुल और माही (7 बी) को दिया गया और तीसरा स्थान निशु और उर्वशी (7 बी) को संयुक्त रूप से दिया गया।

बाल वर्ग बनाने की प्रतियोगिता में खुशी केशरी (4ए), द्वितीय स्थान आरोही निषाद (3ए), आरुषि झा (3बी) व सिद्धि केशरी (4ए) व तृतीय स्थान कोमल (4बी) ने हासिल किया। प्रतियोगिता के किशोर वर्ग में अंशु जी, पुष्पलता जी, नेहा जी, सविता जी और गुडविल जी व राखी जी ने निर्णायक की भूमिका निभाई।

आचार्य सुनील कुमार महतो ने कहा कि रंगोली धार्मिक सांस्कृतिक मान्यताओं का प्रतीक रही है। इसे आध्यात्मिक प्रक्रिया का एक महत्वपूर्ण हिस्सा भी माना जाता है। स्कूल के प्रधानाचार्य अरुण कुमार चौधरी ने कहा कि रंगोली खुशी और खुशी की रंगीन अभिव्यक्ति है। ये हमारी सांस्कृतिक भावनाओं को साकार करने में महत्वपूर्ण उपकरण माने जाते हैं। कार्यक्रम का संचालन रश्मि कुमारी ने और धन्यवाद प्रस्ताव चंद्रमोहन मिश्रा ने किया।

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here