विज्ञापन के साथ फेड? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए दैनिक भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

गढ़वा2 दिन पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • सदर अस्पताल में हर दिन 1000 से 1500 लोग पहुंचते हैं, मरीज तब यहां और वहां कर्मचारियों की तलाश में रहते हैं जब वे ड्रेस कोड में नहीं होते हैं

स्वास्थ्य निदेशालय ने सदर अस्पताल गढ़वा में काम करने वाले डॉक्टरों और स्वास्थ्य कर्मचारियों के लिए अलग-अलग ड्रेस कोड निर्धारित किए हैं। लेकिन स्वास्थ्य केंद्र के कर्मचारियों द्वारा निर्धारित ड्रेस कोड का पालन नहीं किया जा रहा था। इसके कारण सदर अस्पताल में इलाज के लिए आने वाले मरीजों और उनके परिजनों में हमेशा असमंजस की स्थिति बनी रहती थी।

लेकिन अब पेयजल और स्वच्छता विभाग के मंत्री सह विधायक मिथिलेश ठाकुर के निर्देश पर सदर अस्पताल गढ़वा के सभी कर्मचारियों को ड्रेस कोड में ही अस्पताल आने के सख्त निर्देश दिए गए हैं। जो कर्मचारी ड्रेस कोड में नहीं आएंगे, उन्हें काट दिया जाएगा। अन्यथा उन्हें हटा दिया जाएगा।

ड्रेस में नहीं होने पर कर्मचारियों पर होगी कार्रवाई

विधायक प्रतिनिधि स्वास्थ्य विभाग कंचन साहू ने कहा कि जो कर्मचारी ड्रेस कोड के तहत नहीं आते हैं। इसलिए उनके उपस्थिति रजिस्टर पर हस्ताक्षर नहीं लिया जाएगा। साथ ही, अगर वह बिना ड्रेस कोड के लगातार 3 दिनों तक अनुपस्थित रहता है, तो उसे राहत मिलेगी। साथ ही, उन्होंने कहा कि अगर किसी मरीज से दलाली की शिकायत होने पर कर्मचारी को उस जगह पर ड्यूटी पर रखा जाएगा। फिर बिना जांच के कार्रवाई की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here