• हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • झारखंड
  • धनबाद
  • शहर में 225 होर्डिंग्स अवैध, जिम्मेदारियों की खामोशी से नगर निगम को हर साल 62 लाख का नुकसान

धनबाद१८ घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

फाइल फोटो

  • मुख्य सड़कों के डिवाइडर से लेकर निजी घरों की छतों तक होर्डिंग भी लगाए गए हैं.

नगरीय क्षेत्र में 225 अवैध होर्डिंग नगर निगम को चिढ़ा रहे हैं। इन होर्डिंग्स ने शहर की सूरत भी खराब कर दी है। जिन जगहों पर होर्डिंग नहीं लगनी चाहिए वहां भी लगवाए गए हैं। मुख्य सड़क से लेकर मोहल्ले के कोने-कोने तक होर्डिंग भर चुके हैं और जिम्मेदार खामोश हैं. जिम्मेदारियों की चुप्पी का नतीजा है कि शहरी क्षेत्र में 225 अवैध होर्डिंग लगाकर विज्ञापन कंपनियां पैसा कमा रही हैं.

इन अवैध हार्डिंगों से निगम को सालाना 62 लाख रुपये के राजस्व का नुकसान हो रहा है। यह खुलासा नगर निगम की जांच में ही सामने आया है। नगर निगम आयुक्त सत्येंद्र कुमार ने शहर में होर्डिंग्स लगाने की शिकायत पर एक जांच दल गठित कर सभी होर्डिंग्स की जांच के निर्देश दिए थे. जांच टीम ने गुरुवार को अपनी रिपोर्ट नगर आयुक्त को दे दी है.

विज्ञापनों को एक के बजाय दाईं ओर रखा गया

जांच दल ने अपनी रिपोर्ट में खुलासा किया कि विज्ञापन एजेंसियों ने समझौते की अनदेखी करते हुए होर्डिंग लगाए थे। कंपनी के साथ समझौता होर्डिंग्स में केवल एक तरफ विज्ञापन लगाने का है, लेकिन सभी कंपनियों ने दोहरे चेहरे वाले विज्ञापन लगाए हैं। डबल फेस विज्ञापन ज्यादातर यूनिपाल में किया जाता है। गेल बिल्डिंग से बंकमेड, मटकुरिया तक सड़क के एक तरफ सीमेंटेड पेल पर दर्जनों ऐसे यूनीपल लगाए गए हैं। निगम के मुताबिक यूनिपाल में सिर्फ एक पक्ष का विज्ञापन होना है, लेकिन एजेंसियों ने दोनों तरफ विज्ञापन लगा रखे हैं. ऐसे विज्ञापनों की संख्या 200 है। वहीं, 25 हार्डिंग हाउसों की छतों पर ऐसे होर्डिंग लगाए गए हैं। इसके लिए निगम से अनुमति नहीं ली गई है।

इसकी आड़ में 4000 हार्डिंग समझौता

शहर में होर्डिंग लगाने के लिए 15 विज्ञापन एजेंसियों ने पंजीकरण कराया है। इनमें से पांच से सात कंपनियां दस साल से शहर में होर्डिंग लगा रही हैं। निगम के मुताबिक समझौते के तहत पूरे निगम क्षेत्र में कुल 4000 होर्डिंग लगाए गए हैं. इनमें बड़ी हार्डिंग से लेकर यूनिपाल और पेल केसर तक शामिल हैं। जांच रिपोर्ट में बताया गया है कि इन होर्डिंग्स की आड़ में एजेंसियों द्वारा अवैध होर्डिंग और यूनिपेल लगाए गए हैं.

एजेंसियों को ब्लैकलिस्ट किया जाएगा

शहर में लगे होर्डिंग्स की जांच रिपोर्ट मिल गई है. जांच दल द्वारा 200 से अधिक हार्डिंग को अवैध घोषित किया गया है। सभी से बकाया राशि सहित अधिनियम के अनुसार शत-प्रतिशत जुर्माना वसूल किया जाएगा। सभी दोषी एजेंसियों को भी काली सूची में डाल दिया जाएगा।

सत्येंद्र कुमार, नगर आयुक्त

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here