विज्ञापन के साथ फेड? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए दैनिक भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

जामताड़ा2 दिन पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • कई महीनों तक अपरिवर्तित रहने के बावजूद यह स्थिति मूक दर्शक बनी रहती है।

मिहिजाम शहर के हिल रोड में स्थापित टेलीफोन केंद्र इन दिनों एक अव्यवस्था की स्थिति में अनुग्रह का विषय बन गया है। मिहिजाम में टेलीफोन केंद्र में स्थापित लाखों टेलीफोन उपकरण जीर्ण-शीर्ण हो चुके हैं। घरेलू कनेक्शन के लिए बने पैनल खाली होने से कार्यालय को सुशोभित करने के लिए काम कर रहे हैं। पहले के वर्षों में, मिहिजाम टेलीफोन केंद्र से लगभग एक हजार लैंडलाइन और तीन सौ ब्रॉडबैंड कनेक्शन संचालित किए जाते थे, लेकिन इन दिनों में लैंडलाइन कनेक्शन शून्य हो गए हैं, जबकि ब्रॉडबैंड कनेक्शन केवल बैंकों तक ही सीमित है। इनमें भी, ग्राहक हर दिन लिंक के सदस्य बने रहते हैं। ऐसे में बैंकों और डाकघरों के उपभोक्ताओं को परेशानी का सामना करना पड़ता है। लिंक फेल होने के कारण जहां ग्राहकों को पैसे और अन्य कागजी कार्रवाई वापस लेनी पड़ती है।

कई महीनों तक अपरिवर्तित रहने के बावजूद यह स्थिति मूक दर्शक बनी हुई है। यह ऐसा है जैसे विभाग का इस समस्या से कोई लेना-देना नहीं है। कई बार यह समस्या स्थानीय लोगों के साथ-साथ टेलीफोन विभाग के अधिकारियों द्वारा बैंकों, डाकघर के अधिकारियों द्वारा विभिन्न माध्यमों से रखी जाती रही है। इसके बावजूद इस पर कोई ठोस पहल नहीं की गई है। मिहिजाम टेलीफोन सेंटर के विभागीय सूत्रों ने बताया कि शहर में कुल छह बैंक हैं। यह बताया गया कि मिहिजाम के प्रमुख बैंकों में मिहिजाम मुख्य डाकघर के अलावा सिबी, बैंक ऑफ बड़ौदा, केनरा बैंक, बैंक ऑफ इंडिया, सेंट्रल बैंक और इलाहाबाद बैंक में ब्रॉडबैंड सुविधा प्रदान की गई है। यह बताया गया कि 2 जी और 3 जी ब्रॉडबैंड सुविधा के लिए टेलीफोन सेंटर, मालपाड़ा और पालबागान में भी टावर लगाए गए हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here