विज्ञापन के साथ फेड? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए दैनिक भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

धनबाद19 घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

आरोपी बीजेपी नेताओं पर गुस्सा

  • डायमंड क्रॉसिंग की महिलाएं उच्च स्तरीय जांच की मांग करती हैं
  • महानगर अध्यक्ष के नेतृत्व में भाजपा नेताओं ने एसएसपी से मुलाकात की

अतिक्रमण हटाने के विरोध में शनिवार को एमपी हाउस का घेराव कर रहे डायमंड चौराहे की महिलाओं और भाजपा नेताओं के बीच विवाद ने रविवार को आग पकड़ ली। डायमंड क्रासिंग की महिलाओं ने भाजपा नेताओं के खिलाफ मारपीट और दुर्व्यवहार का आरोप लगाया और उनकी गिरफ्तारी की मांग की। इधर, भाजपा नेता और कार्यकर्ता रविवार को दिन भर सांसद के आवास पर आते रहे। भाजपा ने एसएसपी से मुलाकात की और इस मुद्दे को सांसद की सुरक्षा का मुद्दा बनाकर अपनी बात रखी।

डायमंड क्रॉसिंग की महिलाओं द्वारा उच्चस्तरीय जांच की मांग, कहा- भाजपा नेताओं ने पीटा, तुरंत गिरफ्तार

रविवार को मप्र की महिला नेताओं के आगमन के साथ, आरोपी भाजपा नेताओं की गिरफ्तारी की मांग को लेकर रणधीर वर्मा चाैक पर विरोध प्रदर्शन का डायमंड क्रॉसिंग आयोजित किया गया और आरापियों की गिरफ्तारी की मांग की गई। प्रदर्शन में महिलाएं भी शामिल थीं। रेलवे विक्टिम शैटेड सोसाइटी के बैनर तले रणधीर वर्मा चैक पहुंची नीतू देवी ने कहा कि हमलावर सांसद अपना दर्द साथ रखना चाहते थे। वहां जाने पर पता चला कि सांसद घर पर नहीं हैं। वे सभी वहां शांति से बैठ गए और उसके आने का इंतजार करने लगे। ऐसे में सांसद और भाजपा नेताओं के समर्थक वहां पहुंच गए और उनसे लड़ने लगे। पिटाई से एक महिला बीश की भी मौत हो गई। भाजपा नेताओं ने शंकर चौधरी और संजय कुशवाहा के साथ मारपीट की। उन्होंने कहा कि प्रशासन को तत्काल सभी आराेपियों को गिरफ्तार करना चाहिए। इस मामले में एक उच्च-स्तरीय जांच की जानी चाहिए। प्रदर्शन में उर्मिला देवी, रीता देवी, दीपाली आदि शामिल थीं।

इसी तरह से और भी कई हैं।रेलवे की भूमिका सही नहीं है – विधायक

विधायक राज सिन्हा ने कहा कि सांसद के आवास पर हंगामा दुर्भाग्यपूर्ण था और कहा कि ऐसा नहीं किया जाना चाहिए। लागीन को परेशानी थी, उन्हें सांसद से बात करनी चाहिए थी। उन्होंने कहा कि रेलवे की भूमिका सही नहीं है। ठंड में किसी को बेघर करना मानवता के खिलाफ है। अगर अतिक्रमण अभियान चलाया जाना है तो धनबाद से गामे तक केवल डायमंड क्रासिंग ही क्यों रखी जाए।

महानगर अध्यक्ष के नेतृत्व में एसएसपी से मिले भाजपा नेता, बोले- मामले में स्वार्थी तत्वों का हाथ, अपना स्वार्थ रखें

पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल

पुलिस की कार्यप्रणाली पर उठे सवाल

रविवार को महानगर अध्यक्ष चंद्रशेखर सिंह के नेतृत्व में भाजपा के एक प्रतिनिधिमंडल ने एमपी हाउस की घेराबंदी के दौरान विवाद के बारे में एसएसपी से मुलाकात की और उन्हें घटना के बारे में विस्तृत जानकारी दी। चंद्रशेखर सिंह ने एसएसपी से कहा कि यह सिर्फ सदन के घेराव की बात नहीं है, बल्कि सांसद की सुरक्षा का सवाल है। उन्होंने कहा कि सदन की घेराबंदी बिना किसी पूर्व सूचना के भी की गई, जब सांसद अपने आवास में नहीं थे। उन्होंने पूरे प्रकरण में धनसार पुलिस की भूमिका पर सवाल उठाया और कहा कि धनसार पुलिस की भूमिका संदिग्ध थी। इसकी निष्पक्ष जांच जरूरी है। चंद्रशेखर सिंह ने कहा कि इस कड़ी में कुछ स्वार्थी तत्व हैं, जाे महिलाओं को आगे ले जाकर स्वार्थ में लगे हैं। उन्होंने एसएसपी से ऐसे तत्वों की गतिविधियों की जांच की भी मांग की। प्रतिनिधिमंडल में संजय झा, नितिन भट्ट, मानस प्रसून, महेश पासवान, अमलेश सिंह, पंकज सिन्हा, उमेश यादव और आशीष पासवान शामिल थे।

सांसद की चेतावनी … फिर हम हड़ताल पर बैठेंगे

मामले में सांसद पीएन सिंह ने कहा कि उनके आवास पर एक साजिश के तहत साजिश रची गई है। हंगामा किसने किया, पुलिस को भी इसकी जानकारी है, लेकिन पुलिस कार्रवाई नहीं कर रही है। उन्होंने कहा कि वह मकर संक्रांति तक पुलिस कार्रवाई का इंतजार कर रहे हैं। मकर संक्रांति तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की और वे खुद एसएसपी कार्यालय में धरने पर बैठ गए। समर्थन करना है या नहीं वे धरने पर अकेले बैठेंगे।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here