• हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • झारखंड
  • सुबह 8 बजे सूर्य मकर राशि में प्रवेश करेगा, इस संक्रांति तिल की पूजा करें, मस्तिष्क और रक्तचाप की समस्याओं से राहत मिलेगी

विज्ञापन के साथ फेड? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए दैनिक भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

रांची2 घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • सूर्य से संबंधित दोषों के समाधान के लिए मकर संक्रांति का समय बेहद महत्वपूर्ण होगा।
  • जब सूर्य सुबह मकर राशि में प्रवेश करता है, तो 16 दंड होते हैं अर्थात लगभग 384 मिनट की पूर्ण अवधि।

मकर संक्रांति गुरुवार को है। इस दिन सूर्य के मकर राशि में प्रवेश करते ही सूर्य उत्तरायण हो जाएगा। अर्थात सूर्य पृथ्वी के उत्तरी भाग में अधिक से अधिक प्रकाश उत्सर्जित करेगा। ऐसी स्थिति 5 महीने तक बनी रहेगी और उसके बाद मई में कर्क राशि में प्रवेश करते ही सूर्य दक्षिणायन में आ जाएगा। जब सूर्य सुबह मकर राशि में प्रवेश करता है, तो 16 दंड होता है, अर्थात, लगभग 384 मिनट की पूर्ण अवधि। यानी सुबह 8.43 से 11.50 बजे तक पुण्य काल रहेगा। सूर्य का यह संक्रमण शुक्र-प्रधान पूर्वा फाल्गुनी नक्षत्र और शोभन योग में हो रहा है, जो सभी के लिए अत्यंत लाभकारी है।

आप सूर्य संबंधी दोषों से मुक्त हो जाएंगे

यह संक्रांति सूर्य से संबंधित दोषों के समाधान के लिए सबसे महत्वपूर्ण समय होगा। यदि आप रक्त, संतान, मस्तिष्क की समस्या या उच्च रक्तचाप से परेशान हैं, तो यह एक लक्षण है कि कुंडली में सूर्य या तो तुला राशि में स्थित है, या वृषभ, धनु या मीन राशि में स्थित है।

उपाय

इन स्वास्थ्य समस्याओं के समाधान के लिए 15 तारीख को सुबह तांबे के बर्तन में पानी लें और उसमें कुंकुम, चीनी और एक बेल का पत्ता डालें। मंत्र के साथ: ra नमो नम: सहस्रांशु आदित्याय नमो नम: पढ़ते हुए सात बार सूर्य को जल दें। ऐसा हर रविवार को करें।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here