रांची2 घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

मेयर आशा लाकड़ा ने शनिवार को इंजीनियरिंग खंड के कार्यों की समीक्षा की।

रांची की आशा लकड़ा ने कहा है कि रांची नगर निगम में लालफीताशाही है. अधिकारी मनमानी कर रहे हैं। खासकर बड़ी योजना के टेंडर में कई तरह की गलतियां की गई हैं. इन गड़बड़ी पर अधीक्षण अभियंता और उप नगर आयुक्त भी खामोश हैं. इससे साफ है कि रांची नगर निगम की इंजीनियरिंग शाखा में बड़ा घोटाला हुआ है.

शनिवार को आयोजित प्रेस वार्ता में उन्होंने कहा कि नगर आयुक्त को पत्र लिखकर इन मामलों की जांच कराने का निर्देश दिया जाएगा. साथ ही इस मामले की जानकारी राज्य सरकार को भी दी जाएगी, ताकि इंजीनियरिंग शाखा में चल रही कई अनियमितताओं की जांच कर दोषी पाए गए अधिकारियों के खिलाफ उचित कार्रवाई की जा सके.

बैठक में शामिल नहीं होने वाले अभियंता को कारण बताओ
मेयर ने बताया कि मुख्य अभियंता राजदेव सिंह व कार्यपालक अभियंता रमेश सिंह समीक्षा बैठक में शामिल नहीं हुए. इससे साफ है कि संबंधित अधिकारी अपनी गलती छिपाने की कोशिश कर रहे हैं। मेयर ने उप नगर आयुक्त एवं अधीक्षण अभियंता को निर्देश देते हुए कहा कि तीन दिन के भीतर संबंधित मामलों पर स्पष्टीकरण दिया जाए.

अधिकारी तीन दिन से ज्यादा फाइल अपने पास नहीं रख सकेंगे
उन्होंने इंजीनियरिंग शाखा के अधिकारियों से यह भी कहा कि इंजीनियरिंग शाखा से जुड़ी फाइल तीन दिन से ज्यादा किसी के पास नहीं रहनी चाहिए. जिन लोगों को संबंधित कार्य से आपत्ति है तो वे अपनी टिप्पणी देकर फाइल को फॉरवर्ड कर सकते हैं। उन्होंने यह भी कहा कि अधिकारी जनप्रतिनिधियों के साथ तालमेल बनाकर काम नहीं कर रहे हैं, जिससे आम लोगों की छोटी-छोटी समस्याओं का समाधान नहीं हो पा रहा है.

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here