रांची5 घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

रांची जिला बार एसोसिएशन के पूर्व महासचिव कुंदन प्रकाशन ने कोतवाली थाने में 19.38 लाख रुपये के गबन का आरोप लगाते हुए एसोसिएशन कार्यालय में कार्यरत लेखा लिपिक ज्योति कुमारी के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करायी है.

प्राथमिकी में कुंदन प्रकाशन ने कहा है कि वकालतनामा, बेल बांड, उपस्थिति पत्र, शपथ पत्र फॉर्म, मेडिक्लेम फॉर्म, नामांकन फॉर्म संदीप मिंज, उपेंद्र महतो, शैलेंद्र कुमार, राजा कुमार और मैनुल अंसारी, पुराने बार भवन में काम करने वाले क्लर्क और नई बार इमारत। और कल्याण टिकट मद में प्रतिदिन अर्जित आय लेखा लिपिक ज्योति कुमारी को सौंप दी गई, लेकिन उसने जमा नहीं किया।

ऑडिटर को नहीं दिया बिक्री रजिस्टर

ज्योति कुमारी का कर्तव्य था कि सभी कर्मचारियों से प्राप्त आय को एसोसिएशन के विभिन्न बैंकों जैसे एसबीआई मुख्य शाखा और कचहरी शाखा के केनरा बैंक में जमा करें। ऑडिटर अंकित माहेश्वरी की ओर से स्टेट बार काउंसिल को भेजी गई ऑडिट रिपोर्ट में भी इसका खुलासा हुआ है. ऑडिटर ने ज्योति से कई बार सेल का रजिस्टर मांगा, लेकिन उसने उपलब्ध नहीं कराया.

खाता लिपिक रजिस्टर लेकर अलमारी में गया, चाभी कोषाध्यक्ष अमर कुमार के पास थी। जब अलमारी खोली गई तो पाया गया कि रजिस्टर में हलफनामे और वकालतनामा की बिक्री से जुड़े कुछ पन्ने गायब थे। कुंदन ने कहा है कि प्राथमिकी के बाद उनके साथ कोई दुर्घटना हो सकती है।

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here