विज्ञापन के साथ फेड? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए दैनिक भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

खूंटीएक घंटा पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना

एसपी आशुतोष शेखर ने कहा कि घोटाले में शामिल दोनों आरोपी खुंटी से भाग गए थे और अपने कुछ रिश्तेदारों के साथ छत्तीसगढ़ के जसपुर के कनकुरी थाना इलाके में रुके थे।

  • 7 जनवरी को प्रेम गाग पिकनिक स्पॉट से कुछ दूर छोटा उदेखल के डोडी जंगल से एक शव बरामद किया गया था।

शनिवार को पुलिस ने 28 वर्षीय संतकांत मिश्रा हत्याकांड का खुलासा किया। पुलिस ने हत्या के आरोप में साकेत की चाची विद्यावती देवी और घरेलू नौकर बिरसा मुंडा को गिरफ्तार किया। विद्यावती का साकेत और बिरसा दोनों के साथ अवैध संबंध था। 6 जनवरी को प्रेमघाग पिकनिक स्थल पर विद्यावती और साकेत के बीच हाथापाई हुई थी। इसके बाद बिरसा भी मौके पर पहुंचा और वह सिग्नल से भिड़ गया। इस बीच, बिरसा ने गला रेत कर संचित की हत्या कर दी। इसके बाद शव को जला दिया। यह जानकारी एसपी आशुतोष शेखर ने दी।

एसपी ने बताया कि अवैध संबंध को लेकर बिरसा और संचित के बीच अक्सर विवाद होता था। घोटाले में शामिल दोनों आरोपी खूंटी से भाग गए और छत्तीसगढ़ के जसपुर के कनकुरी थाना क्षेत्र में एक रिश्तेदार के यहां रुक गए। पुलिस ने शुक्रवार शाम दोनों को गिरफ्तार कर लिया।

गिरफ्तार अभियुक्तों द्वारा अपराध कबूल कर लिया गया है। हत्या के बाद आरोपी ने साक्ष्य छुपाने के लिए बाइक से पेट्रोल निकालकर शव को जलाने की बात कही। आरोपी के इशारे पर घटनास्थल के पास से वारदात में इस्तेमाल की गई दौली (धारदार हथियार) बरामद की गई।

एसपी ने बताया कि आरोपी के मुताबिक, संचित को बेटी के इलाज के लिए कुछ रुपयों की जरूरत थी। पैसे मांगने वाली मौसी द्वारा संकेत को रांची से पिकनिक स्पॉट पर बुलाया गया था। बिरसा भी था। बिरसा को कुछ सामान लाने के लिए भेजा गया था, जब वह वापस आया, तो उसने देखा कि साकेत और चाची के बीच हाथापाई चल रही है। इसी बीच बिरसा सांकत से भिड़ गया।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here