• हिंदी समाचार
  • स्थानीय
  • झारखंड
  • धनबाद
  • पांच ग्रन्थ 14 वें सूर्य पर चढ़ेंगे मकर, मनेगी संक्रांति; सूर्योदय से पहले स्नान करना शुभ फल देगा

विज्ञापन के साथ फेड? विज्ञापनों के बिना समाचार के लिए दैनिक भास्कर एप्लिकेशन इंस्टॉल करें

धनबाद2 घंटे पहले

  • प्रतिरूप जोड़ना
  • सूर्य सुबह 8:20 बजे मकर राशि में प्रवेश करेगा, जब तक मकर संक्रांति शुभ नहीं होगी

मकर संक्रांति त्यौहार 14 जनवरी को सूर्य के मकर राशि में आने के बाद मनाया जाएगा। पंडित चक्रपाणि पाठक के अनुसार, सूर्य सुबह लगभग 8:20 बजे मकर राशि में प्रवेश करेगा। इस दिन मकर संक्रांति का शुभ मुहूर्त सूर्यास्त तक रहेगा। इस दिन सुबह लगभग 7:15 बजे सूर्योदय होगा और शाम करीब 5:50 बजे सूर्यास्त होगा। इस तरह, संक्रांति की पुण्यतिथि 9 घंटे से अधिक होगी। इस दौरान श्रद्धा के अनुसार जरूरतमंद लोगों को दान दिया जा सकता है। इस वर्ष मकर संक्रांति पर 5 ग्रहों के विशेष योग भी बनेंगे। पंडित चक्रपाणि पाठक के अनुसार, बृहस्पति देव का दिन गुरुवार है।

ज्योतिष ग्रंथों में इसे एक शुभ दिन माना जाता है। इसलिए इस दिन उत्तरायण बदलना बहुत शुभ है। यह संक्रांति गुरुवार को पड़ रही है। जिसके कारण महंगाई थोड़ी कम होने की उम्मीद है। जब सूर्य का राशि परिवर्तन होता है, उस समय कुंडली बनती है। जिससे अगले 30 दिनों का राजनीतिक, सामाजिक और आर्थिक भविष्य निकाला जा सकता है। इस बार जब सूर्य अपनी राशि बदलेंगे तो मकर राशि में सूर्य के साथ चंद्रमा, बुध, गुरु और शनि होने से पंचग्रही योग बनेंगे।

सूर्योदय से पहले स्नान करने से शुभ परिणाम मिलेंगे… स्वास्थ्य में सुधार होगा

मकर संक्रांति के दिन सूर्योदय से पहले स्नान करना चाहिए। इसके बाद उगते हुए सूर्य को 3 बार जल अर्पित करना चाहिए। सूर्य नमस्कार और भी बेहतर है। इसके बाद श्रद्धा के अनुसार दान करने का संकल्प लें। फिर जरूरतमंद लोगों को कपड़े और खाने की चीजें दान करें। इस त्योहार पर विशेष रूप से तिल और गुड़ का दान करने की परंपरा है। इस बार संक्रांति का नाम मंद है। जो सिंह पर सवार होकर वैश्य के घर में प्रवेश कर रहा है। इसका हाथी हाथी है। यह देव जाति का है। शरीर पर कस्तूरी का लेप, सफ़ेद वस्त्र पहने, हाथ में पुन्नागपुष और भुशुण्डि शस्त्रों की माला लेकर सोने के बर्तन में भोजन कर रहा है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here