झारखंड में बने ऑक्सीजन प्लांट के उद्घाटन समारोह को लेकर एक बार फिर राजनीति शुरू हो गई है. मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने रांची रिम्स में सेंट्रल लैब, सिटी स्कैन मशीन, कोबास टेस्टिंग मशीन और सदर अस्पताल में पीएसए प्लांट का उद्घाटन किया. इस पर रांची से बीजेपी सांसद संजय सेठ ने विरोध जताया है. भाजपा सांसद ने आज मुख्यमंत्री द्वारा 17 संयंत्रों के उद्घाटन का विरोध करते हुए कहा कि झारखंड में सभी ऑक्सीजन प्लांट पीएम केयर्स फंड से बने हैं. ऐसे में मुख्यमंत्री द्वारा अपने स्तर से इसे जारी करना समझ से परे है.

उन्होंने कहा कि कोरोना के खिलाफ जारी लड़ाई को अंतिम रूप देते हुए पीएम केयर्स फंड से देशभर में पीएसए प्लांट बनाए गए हैं. इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री 7 अक्टूबर को करने जा रहे हैं, ऐसे में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के लॉन्च की तारीख से एक दिन पहले राज्य सरकार द्वारा इसका उद्घाटन करना समझ से परे है. सेठ ने कहा कि मुख्यमंत्री क्या करने की कोशिश कर रहे हैं? यह लोकतांत्रिक व्यवस्था का अपमान है।

उन्होंने कहा कि जब सभी पीएसए संयंत्रों को राष्ट्रीय स्तर पर लॉन्च करने का निर्णय लिया जाता है, तो झारखंड सरकार द्वारा ऐसा करना सीधे तौर पर प्रधानमंत्री का अपमान है. जनता प्रधानमंत्री का अपमान बर्दाश्त नहीं करेगी। झारखंड सरकार एक तरफ पैसा और संसाधन न देने पर रो रही है तो दूसरी तरफ केंद्र के संसाधनों को समर्पित कर ‘मल महाराज की मिजार खेले होली’ की कहावत को पूरा कर रही है.

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here