धनबाद19 घंटे पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

फाइल फोटो

  • प्रबंधक, खनन सरदार, ओवरमैन के लिए वर्ष में एक बार परीक्षा

खनन महानिदेशालय द्वारा आयोजित विभिन्न परीक्षाएं अब केवल कंप्यूटर आधारित ली जाएंगी। सभी प्रकार की परीक्षाओं से मौखिक परीक्षा की व्यवस्था समाप्त कर दी गई है। केंद्रीय श्रम एवं रोजगार मंत्रालय के अंतर्गत आने वाले खान सुरक्षा महानिदेशालय द्वारा परीक्षा में किये गये बदलाव से संबंधित गजट प्रकाशित कर जानकारी सार्वजनिक की गयी है.

जारी गजट के अनुसार प्रथम श्रेणी प्रबंधक, द्वितीय श्रेणी प्रबंधक, खनन सरदार, ओवरमैन और गैस परीक्षण सहित अन्य सभी परीक्षाएं वर्ष में एक बार कंप्यूटर आधारित ली जाएंगी। परीक्षा की अवधि तीन घंटे की होगी। प्रत्येक विषय के लिए अधिकतम 150 अंक होंगे। परीक्षा पास करने के लिए आपके पास कम से कम 50 पर्सेंटाइल यानी 150 में से 75 अंक होने चाहिए। परीक्षा की अन्य शर्तों में कोई बदलाव नहीं किया गया है।

सीबीआई की कार्रवाई के बाद परीक्षा व्यवस्था में बदलाव

हाल ही में सीबीआई ने डीजीएमएस के सेंट्रल जन के उप महानिदेशक और एक दलाल अरविंद कुमार को प्रथम श्रेणी और द्वितीय श्रेणी प्रबंधक के लिए आयोजित परीक्षा में धांधली के आरोप में गिरफ्तार किया था. इसके बाद डीजी प्रभात कुमार ने मौखिक परीक्षा की व्यवस्था को समाप्त करने की कार्ययोजना बनाई।

परीक्षा में आएगी पारदर्शिता, खत्म होगा भ्रष्टाचार – AIDEOA

अखिल भारतीय डिप्लोमा इंजीनियर्स एंड ऑफिसर्स एसोसिएशन ने परीक्षा में बदलाव के संबंध में श्रम एवं रोजगार मंत्री के साथ डीजीएमएस के डीजी को इस संबंध में एक मांग पत्र सौंपा था। AIDEOA महासचिव आरके तिवारी ने कहा कि मौखिक परीक्षा को समाप्त करने से पारदर्शिता के साथ भ्रष्टाचार समाप्त होगा।

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here