रांची१७ मिनट पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

झारखंड में एक बार फिर हेमंत सरकार को अस्थिर करने की कोशिश का मामला सामने आया है. कांग्रेस विधायकों के खरीद-फरोख्त में विफल होने के बाद अब झारखंड मुक्ति मोर्चा (झामुमो) के विधायकों को निशाना बनाया जा रहा है. इस संबंध में झामुमो के घाटशिला के विधायक रामदास सोरेन ने रांची के धुरवा थाने में प्राथमिकी दर्ज कराई है.

उन्होंने गंभीर आरोप लगाते हुए कहा है- ‘झामुमो के पूर्व कोषाध्यक्ष रवि केजरीवाल और अशोक अग्रवाल पैसे का लालच देकर हेमंत सरकार को गिराने की साजिश कर रहे हैं. केजरीवाल और अशोक हमारे आवास पर आए। दोनों ने झामुमो के अन्य विधायकों का नाम लिया और उन्हें पार्टी छोड़ने का प्रलोभन दिया। कहा कि वह नई पार्टी बनाकर भाजपा के साथ सरकार बनाएंगे। रामदास का आरोप है कि इस घटना से पहले भी रवि केजरीवाल ने उनसे दो-तीन बार मोबाइल पर संपर्क किया था।

विधायक रामदास सोरेन का आरोप है कि रवि केजरीवाल ने उन्हें लालच देकर पैसे के साथ मंत्री पद भी दिया.  (फाइल फोटो)

विधायक रामदास सोरेन का आरोप है कि रवि केजरीवाल ने उन्हें लालच देकर पैसे के साथ मंत्री पद भी दिया. (फाइल फोटो)

विधायक से पूछा गया कि सरकार गिराने के लिए कितने पैसे चाहिए?

विधायक रामदास सोरेन का आरोप- ‘रवि केजरीवाल ने भी आपको लुभाया कि आपको पैसे के साथ मंत्री पद दिया जाएगा। साथ ही कहा कि हेमंत सोरेन की सरकार गिराने के लिए आप कितना पैसा लेंगे, बताओ। दर्ज प्राथमिकी में आरोप है कि रवि केजरीवाल और अशोक अग्रवाल हेमंत सोरेन की सरकार गिराने की साजिश रच रहे हैं और उन्हें और उनकी पार्टी के अन्य विधायकों को हर तरह का प्रलोभन दे रहे हैं.

विधायक ने कहा- सीएम को सारी जानकारी दे दी है

रवि केजरीवाल ने उन्हें पार्टी छोड़ने के लिए आर्थिक प्रलोभन दिया था। यह जानकारी मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन को दी गई है। जब दैनिक भास्कर ने रामदास से पूछा कि रवि केजरीवाल ने आपको कितने पैसे की पेशकश की, तो उन्होंने कहा- ‘यह बात आपको क्यों बताएं। इसकी जानकारी पार्टी को दे दी गई है।

पूरे मामले पर खामोश रही झामुमो

इस मामले में झामुमो के महासचिव सुप्रियो भट्टाचार्य ने कहा- ‘इस बारे में जानकारी नहीं है. इसलिए कुछ नहीं कह सकता। वहीं, पार्टी के केंद्रीय प्रवक्ता बबलू पांडेय का कहना है- ‘यह जांच का विषय है। इस मामले में पुलिस अपना काम कर रही है।

आईपीएस रैंक के अधिकारी कर रहे जांच

घाटशिला विधायक ने 12 अक्टूबर को धुरवा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी है. दोनों पर आईपीसी की धारा 124ए, 171ई, 120डी, 34, भ्रष्टाचार निरोधक कानून 1988 की धारा 8 और 9 के तहत मामला दर्ज किया गया है. मामले की जांच की जिम्मेदारी ली गई है. हटिया के एसपी विनीत कुमार को दिया गया है।

तीन महीने पहले हुई थी कांग्रेस विधायकों को खरीदने की कोशिश

इससे पहले 22 जुलाई को बेरमो विधायक जयमंगल सिंह उर्फ ​​अनूप सिंह ने झामुमो-कांग्रेस-राजद गठबंधन सरकार गिराने की साजिश के सिलसिले में कोतवाली थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी थी. इसके बाद रांची पुलिस ने इस मामले में छापेमारी की. रांची पुलिस ने तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया था.

गिरफ्तार आरोपियों में हुसैनाबाद पलामू निवासी ब्रजेश कुमार दुबे, सेक्टर 2 बोकारो निवासी अमित सिंह और सेक्टर 12 बोकारो निवासी निवारण प्रसाद महतो शामिल हैं. पुलिस ने इनके पास से दो लाख रुपए और मोबाइल फोन बरामद किए हैं। पुलिस के मुताबिक तीनों को रांची के ली लेक के एक होटल से गिरफ्तार किया गया.

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here