धनबादएक घंटा पहले

  • लिंक की प्रतिलिपि करें

देवरिया में पहली बार चोरी हुए मोबाइल की लोकेशन मिली।

हीरापुर के अभय अपार्टमेंट के दो फ्लैटों में लूट की घटना का खुलासा बेहद दिलचस्प तरीके से हुआ. घटना के बाद से पुलिस हिरासत में लिए गए स्थानीय व अन्य जिलों के संदिग्धों से पूछताछ कर रही थी, लेकिन सुराग नहीं लग सका. लूट का मोबाइल भी पुलिस ने सर्विलांस पर रखा था ताकि मदद की जा सके। इसी बीच पुलिस को मोबाइल लोकेशन देवरिया मिल गई।

यह लीड पुलिस के लिए बेहद अहम थी। सदर पुलिस की टीम देवरिया पहुंची तो पता चला कि एक युवती ने अपना सिम मोबाइल में डाल रखा है. पूछताछ में बताया गया कि मुन्ना ने उसे मोबाइल दिया था। मुन्ना भी पुलिस की गिरफ्त में आ गया लेकिन वह घटना में शामिल होने से इनकार करता रहा। फिर सख्ती से पूछताछ करने पर उसने बताया कि लड़की उसकी प्रेमिका है। उपहार में मोबाइल दिया था। पुलिस ने मोबाइल भी बरामद कर लिया है।

सदस्यों को लूट बेचने के बाद उनका हिस्सा मिल गया

घटना में देवरिया निवासी मुन्ना के अलावा देवव्रत और भेला भी शामिल थे। भेला मुन्ना का चचेरा भाई है। बाकरे के रामजी साव, प्रकाश और राजू भी घटना में शामिल थे। रामजी पकड़ा जाता है जबकि प्रकाश और राजू फरार हैं। गिरेह का मास्टरमाइंड अजय चौहान उर्फ ​​यज्ञेंद्र यादव उर्फ ​​सीवान का मास्टर है। घटना को अंजाम देने और लूटे गए सामान को बेचने के बाद इसमें शामिल लोगों तक पैसे पहुंच जाते थे। मुन्ना और रामजी पकड़े जाते हैं। नालंदा जेल में बंद मास्टर हरनैत में भी पकड़ा गया है।

और भी खबरें हैं…

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here