चाईबासा, संवाददाता

हाल ही में जिला शिक्षा विभाग के सभी कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों में खाद्यान्न आपूर्ति का टेंडर जांच के दायरे में आया है. उपायुक्त ने मामले की जांच के आदेश दिए हैं। अतिरिक्त उपायुक्त एजाज अनवर को इस मामले का जांच अधिकारी प्रभारी बनाया गया है. जांच के बाद रिपोर्ट प्रशासन को सौंपी जाएगी। उसके बाद ही यह तय होगा कि टेंडर रद्द किया जाएगा या टेंडर बरकरार रखा जाएगा।

क्या है मामला : हाल ही में जिला शिक्षा विभाग में जिले के सभी कस्तूरबा गांधी बालिका आवासीय विद्यालयों में खाद्यान्न आपूर्ति का टेंडर हुआ था. इस टेंडर में उस फर्म ने टेंडर भी डाला था, जिसे इसी साल जनवरी में सदर कस्तूरबा में माल की आपूर्ति के लिए ब्लैक लिस्ट कर दिया गया था. सदर कस्तूरबा में जनवरी माह में दो सौ से अधिक बच्चियां डायरिया व पेट की अन्य समस्याओं से पीड़ित थीं. खबर मिलने के बाद राज्य के स्वास्थ्य मंत्री बन्ना गुप्ता चाईबासा पहुंचे. उन्होंने जांच के आदेश दिए थे और खाद्यान्न की आपूर्ति करने वाली उक्त फर्म को काली सूची में डालने को कहा था। जानकारी के मुताबिक नए टेंडर में उसी सप्लायर ने फिर से अपनी फर्म का नाम बदलकर टेंडर कर दिया है, जिसका अन्य टेंडर धारक विरोध कर रहे हैं. इसके बाद मामला सवालों के घेरे में आ गया है। जांच अधिकारी एजाज अनवर ने कहा कि इसकी हर बिंदु पर जांच की जाएगी। जांच रिपोर्ट जिला प्रशासन को सौंपी जाएगी, जिसके बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी।

.

Source by [author_name]

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here